GIVEAWAY

रवि से चाँद तक

Poetry

रवि से चाँद तक

Poetry

Format | Paperback

Dates | 2020-07-22 10:52 - 2020-07-31 23:59

Number of books available | 2

Number of people | 56

Available in countries | India

See Winners

कितना ही अजीबोगरीब नाम हो सकता है ना किसी किताब का। वैसे भी अगर कोई आपसे पूछे की आपको कितना वक़्त लगेगा रवि से चाँद तक पहुंचने में ? शायद आपके पास जवाब ना हो, पर मेरे पास है। पूरे 5475 दिन लगेंगे। और इससे पहले की आप इन्हें सालों में बदलने की ज़हमत उठाएं, मैं बता दूं की पूरे 15 साल बनते हैं। जी हाँ, मुझे रवि से चाँद होते होते 15 साल लग गए। इस बीच ज़िन्दगी से क्या क्या सीखा, सब इसमें लिखा हुआ है।


ये वो चुनिंदा ख़्याल हैं, जो आप तक पहुंचे है, विभिन्न माध्यमों द्वारा, या फिर अभी तक कहीं कैद थे, किन्ही पन्नों के बीच।



By रवि 'चाँद' पुनिया

रवि, चाँद और हम बाकी सभी